sanjeevani

Just another Jagranjunction Blogs weblog

31 Posts

11 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 17460 postid : 717360

पित्जा खाने वालों से गुहार है

Posted On: 14 Mar, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

पित्जा खाने वालों से गुहार है ,
रोटी की भी कहीं कहीं मार है |
जो रहता है ए सी में वो क्या जाने ,
गर्मी से लाखों का बुरा हाल है |
देश गरीब हो रहा लेकिन नेता खेलें लाखों में ,
रोज बढ़ रहे दाम आम के बैठे हैं हम फाकों में ,
घूम रहा अम्बेसडर में वो क्या जाने ,
संसद के बाहर जनता बेहाल है ,
पित्जा खाने वालों से गुहार है ………………….

नान , पनीर ,कबाब , कोफ्ता खा कर काफी पी कर ,
निकला बड़े बाप का बेटा बी.एम् .डब्लू लेकर ,
वो अमीर का लाल बात ये भूल गया ,
जिसके प्राण लिए तफरी में वो भी माँ का लाल है ,
पित्जा खाने वालों से गुहार है ………………….

कल तक हर घर में नवरात्रों पर पूजा था हमने जिनको ,
पैर पकड़ कर आशीष लिया था आज तज दिया उनको ,
फेंकने वाला उन्हें फेंक कर भूल गया
बेटे की तरह उनमे भी जान है ,
पित्जा खाने वालों से गुहार है ………………….

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

swadhapandey के द्वारा
March 23, 2014

धन्यवाद |


topic of the week



latest from jagran