sanjeevani

Just another Jagranjunction Blogs weblog

31 Posts

11 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 17460 postid : 724766

आँखों से बयां होते हैं

Posted On: 30 Mar, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आँखों से बयां होते हैं

रोज जीते हैं और रोज फ़ना  होते हैं ,
हम तो बस वक्त हैं , हर पल ही नया होते हैं |
तुम जो कह दो तो रुकें अपनी बदल लें हस्ती ,
वरना अफसाने मेरे सुर्ख सदा होते हैं |
कोई रास्ता नहीं अपना , कोई मंजिल नहीं अपनी ,
हम तो बस वो है जो ख्वाबों में अदा होते हैं |
तेरी हर एक खुशी हमको मुकम्मल कर दे ,
वरना किस्से मेरे आँखों से बयां होते हैं |

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

March 30, 2014

बहुत खूब …………भावों को शब्द देने की खुबसूरत कोशिश ……………………….कमाल की पक्तियां……………….


topic of the week



latest from jagran